पिता ने चढ़ा दी बेटे की बलि, कहता था-'मेरे घर रावण पैदा हुआ अंत करना ही ठीक'

थाना ताजगंज क्षेत्र के कहरई में शनिवार सुबह एलकेजी के छात्र छह वर्षीय ऋषि की हत्या कर दी गई। उसका शव निर्माणाधीन मार्केट के बेसमेंट में पड़ा मिला। हत्या का आरोप पिता अमित पर ही है। परिजनों ने पुलिस को बताया कि वह तंत्र-मंत्र करता था। बेटे को मारना चाहता था। कई बार बलि देने की बात कर चुका था। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है।
loading...
मूलरूप से मंसुखपुरा निवासी रामप्रताप तोमर 18 साल से महादेव नगर, सदर में परिवार सहित रह रहे हैं। उनका बड़ा बेटा अमित स्कूल वैन चलाता था। मगर, दो साल पहले वैन चलाना बंद कर दिया था। एक सप्ताह से घर के पास ही स्थित धर्मवीर के चेन कारखाना में काम करने लगा। उसके दो बेटों में ऋषि बड़ा था, जबकि तीन साल का अभि है। ऋषि घर के पास ही स्थित पुष्प विजय कान्वेंट स्कूल में पढ़ता था। उसे दादी सुमन रोजाना स्कूल छोड़ने जाती थी।

रामप्रताप ने पुलिस को बताया कि शनिवार सुबह सात बजे पत्नी सुमन नाती को स्कूल ले जाने वाली थी, लेकिन अमित उसे स्कूल से लेकर चल दिया। सुमन ने उसे रोका, लेकिन वह नहीं माना। इस पर सुमन को शक हो गया। वह छोटे नाती अजय को गोद में लेकर पीछे गईं। स्कूल में ऋषि नहीं पहुंचा था। इस पर वह अमित की तलाश करने लगीं।

दो घंटे बाद अमित कारखाना में मिला। उसके कपड़ों पर खून और पैरों में मिट्टी लगी थी। इस पर उसे घर ले गए, जहां उससे ऋषि के बारे में पूछताछ की। मगर, वह झूठ बोलता रहा।  उधर, लोगों ने कहरई स्थित निर्माणाधीन मार्केट के बेसमेंट में शव पड़ा देखकर पुलिस को सूचना दी।