काजी ने अस्पताल में पढ़ा प्रेमी युगल का निकाह, घायल दूल्हा बोला कबूल है, जानिए क्या था कारण

दरअसल, मुरादाबाद के कटघर थाना क्षेत्र के करुला निवासी शाहनवाज अपनी दूर की रिश्तेदार आसमां से प्यार करता था। आसमां भी करूला में ही रहती है। दोनों के परिजन शादी करने को तैयार नहीं थे। इसलिए शाहनवाज और आसमां ने मुरादाबाद से दूर जाकर शादी कर अपनी नई दुनिया बसाने का फैसला कर लिया। बीते शनिवार को दोनों घर छोड़कर भाग गए जब इस बात का पता परिजनों को चला तो उन्होंने इस बात की शिकायत पुलिस से की। 
loading...
29 जुलाई को आसमां के परिजनों को उत्तरांचल के रुड़की शहर में होने की सूचना मिली। परिजनों ने दोनों का निकाह कराने का वादा किया और दोनों को अपने साथ यहां ले आए। युवक के चाचा के मुताबिक, युवती के परिजनों ने शाहनवाज को कमरे में बंद कर उसकी पिटाई की जिससे उसकी हालत बिगड़ गई थी। इसके बाद युवक को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। 
इसके बाद दोनों परिवारों की पंचायत बैठी जिसमें तय किया गया कि दोनों का निकाह करा दिया जाए। इसके बाद निकाह की तैयारियां शुरू कर दी गई। काजी को बुलाकर पहले घर पर दुल्हन को निकाह पढ़ाया गया। जिसमें दुल्हन ने निकाह कबूल बोला। इसके बाद जिला अस्पताल में युवक को निकाह पढ़ाया गया। इसके बाद दोनों को बधाइयां देने का सिलसिला शुरू हो गया।