बेटे-बहु से परेशान बुजुर्ग ने सरकार के नाम कर दी संपत्ति, कहा-"मेरी जमीन पर वृद्धाश्रम बने"

ओडिशा के एक गांव में अपने बेटे और बहु के दुर्व्यवहार से तंग आकर एक बुजुर्ग ने ऐसा कदम उठाया, जिसने सबको चौंका दिया है। पत्रकार रहे बुजुर्ग ने अपनी संपत्ति सरकार के नाम लिख दी। उन्होंने इच्छा जताई है कि उनकी जमीन पर एक वृद्धाश्रम बनाया जाए, जहां बुजुर्ग अपने जीवन के आखिरी पल सुकून के साथ जी सकें। 
loading...
मामला जाजपुर के दशरथपुर प्रखंड के मुरारीपुर गांव का है। बुजुर्ग खेत्रमोहन मिश्रा की उम्र 75 वर्ष हो गई है। उनका कहना है कि उनके बेटे और बहु का व्यवहार उनके प्रति ठीक नहीं रहता है। इसलिए उन्होंने अपना सबकुछ (सारी संपत्ति) सरकार के नाम लिख डाला। वह अपनी बाकी की जिंदगी वृद्धाश्रम में बिताना चाहते हैं। 
इस संबंध में जाजपुर के जिलाधिकारी (कलेक्टर) रंजन के दास ने कहा कि प्रशासन ने बुजुर्ग के रहने की व्यवस्था चंडीखोले के पास के एक वृद्धाश्रम में की जा रही है। उन्होंने हमसे निवेदन किया है कि उनके मरने के बाद उनकी अस्थियों पर भी उनके बेटे-बहु को अधिकार न दिया जाए। 
अधिकारी ने बताया कि बुजुर्ग ने अपनी एक जमीन दान में दी है और वह चाहते हैं कि  उनकी जमीन पर एक वृद्धाश्रम बनाया जाए। अधिकारी ने कहा कि जिला प्रशासन उनकी जमीन पर वृद्धाश्रम का निर्माण कराने का फैसला लिया है।