हाथ जोड़कर मांगता रहा जान बचाने की भीख, लेकिन किसी ने भी नहीं की मदद, जानिए क्या था कारण

उत्तर प्रदेश के मेरठ में इंसानियत को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आया है। यहां पर एक युवक को क्रिकेट खेलने को लेकर हुए विवाद के चलते दूसरे पक्ष ने हाईवे पर रोक कर गोली मार दी। इस दौरान युवक हाथ जोड़कर वहां से गुजरने वाले लोगों से जान बचाने की भीख मांगता रहा, लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की। इस दौरान वहां खड़े लोग उसका वीडियो बनाते रहे, लेकिन मदद के लिए कोई आगे नहीं आया।

दो दिन पहले ही दिया था उसको धमकी
loading...
जानकारी के मुताबिक, वारदात खरखौदा थाना क्षेत्र की है। यहां क्रिकेट खेलने को लेकर दो दिन पहले बिजौली गांव में दो युवकों में कहासुनी हो गई थी। पुलिस की मानें तो उज्जवल पक्ष ने दो दिन पहले रितिक को भुगत लेने की धमकी दी थी। पिता मुकेश के अनुसार सोमवार को उसका बेटा रितिक गांव के आकाश व सगुम के साथ बाइक द्वारा खरखौदा गया था।

इलाज के दौरान ही हो गई उसकी मौत
वापस लौटने के दौरान खरखौंदा में डीएवी डिग्री कॉलेज के सामने उसे पीछे से बाइक पर आये गांव के ही उज्जवल पुत्र शिवकुमार व अंकुर ने रोक लिया। गाली गलौज करते हुए उज्जवल ने तमंचे से रितिक पर हमला बोल दिया। उसके बाद उसे गोली मार दी। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार हो गए। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने रितिक को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। इलाज के दौरान रितिक की मौत हो गई। मौत से परिवार में कोहराम मच गया। इस मामले में पीड़ित ने आरोपी उज्जवल व अंकुर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।

किसी ने भी नहीं की उसकी मदद

  • रितिक सड़क पर घायल अवस्था में पड़ा हुआ लोगों से मदद की गुहार लगाता रहा, लेकिन किसी ने भी उसकी मदद नहीं की। इस दौरान लोग उसका वीडियो बनाते रहे। वायरल वीडियो में देख सकते है कि रितिक लोगों से हाथ जोड़ मदद मांग रहा है, लेकिन वहां खड़े हुए लोग तमाश देखते रहे है। किसी ने भी रितिक की मदद करने की कोशिश नहीं की।