बीवी ने जुड़वा बेटियों को जन्म दिया तो शौहर ने फोन पर ही कह दिया ये बड़ी बात, जानें पूरा मामला

देश में तीन तलाक पर कानून बनने के कुछ दिन बाद ही  बिहार में एक महिला को उसके पति ने तीन तलाक दे दिया है. मामला सुपौल से जुड़ा है जहां की महिला को उसके पति ने बाहर से फोन पर तीन तलाक दे दिया. सदर थाना के महेपुर की रहने वाली फर्जाना को उसके पति ने फोन पर इसलिए तीन तलाक दे दिया क्योंकि उसने महज 10 दिन पहले जुड़वा बेटी को ऑपरेशन के जरिये जन्म दिया.

रात के अंधेरे में निकाल दिया घर से 
loading...
बेटी के जन्म से खफा महिला के पति ने उसको देर रात फोन पर तीन तलाक दे दिया औऱ रात के 2 बजे उसको घर से निकाल दिया. सदर थाना के ही महेशपुर की रहने वाली पीड़िता जब ससुराल से निकाल दी गई तो वो रात के अंधेरे में अपने दो बेटियों को गोद में लेकर घर की ओर चल दी. जब उसके पीछे कुछ आवारा कुत्ते भौंकने लगे और उन कुत्तों से खुद को बचाते हुए भाग रही थी तो गांव की कुछ महिलाओं ने कुत्तों के भौंकने की आवाज सुनकार पीड़िता को देखा और सकुशल रात के तीन बजे मायके पहुंचाया.

अभी 6 साल पहले ही हुई थी शादी
दरअसल महेशपुर की रहने वाली फर्जाना की शादी 2013 में बगल के गांव बसबिट्टी के इकरामूल से हुई थी. शादी के बाद फर्जाना को लगातार पैसे के लिए पति और सास प्रताड़ित किया करते था फिर भी किसी तरह वो अपने पति के साथ रह रही थी. कुछ साल पहले फर्जाना ने एक बेटी को जन्म दिया था जिसके दिल में छेद होने के कारण उसकी मौत हो गई. इस बीच फर्जाना ने फिर से जुड़वा बेटी को जन्म दिया.

बेटियों के जन्म लेते ही भाग गया था शौहर
बेटी के जन्म होते ही पति उसको अस्पताल में देखभाल करने के बजाय उसे वहीं छोड़कर बाहर चला गया और शनिवार की रात उसे फोन कर तालाक दे दिया. तलाक मिलने के बाद से ही वह पीड़िता महिला थाना पहुंची और न्याय की गुहार लगा रही है. पीड़िता के पिता का कहना है कि उनकी बेटी को कई दिनों से पैसे के लिए प्रताड़ित किया जाता था वहीं उसकी मां मोदी सरकार का तीन तलाक कानून बनाने को लेकर धन्यवाद देती हैं और कहती हैं कि सरकार तीन साल की सजा के बजाय आजीवन का प्रावधान करें. पुलिस इस मामले पर कुछ भी बोलने से बचती नजर आ रही है और जांच का हवाला दे रही है .