पत्नी को लेने गए थे अपने ससुराल, जहां पर दामाद का हुआ कुछ ऐसा हाल

भारतीय परंपरा में यूं तो दामाद का ओहदा ससुराल में बड़ा ही होता है। ससुराल में जितना सम्मान दामाद को मिलता है, शायद ही वहां किसी को भी मिलता हो, लेकिन अलीगढ़ में एक दामाद को ससुराल में ऐसा ही कुछ मिला जिसकी उसने कभी सपने में भी कल्पना नहीं किया होगा। पत्नी को ससुराल लेने पहुंचे व्यक्ति को हांथ पैर बांध कर बीच सड़क पर छोड़ दिया गया लेकिन इसके पीछें भी वजह रही .. और वजह जानकर आप भी यही कहेंगे कि इसके साथ जो हुआ वो शायद ठीक ही था।

जुल्मी दामाद को दी गई ऐसी सजा
loading...
गाजियाबाद के रहने वाले सोमदत्त की शादी अलीगढ़ के गोली कुंआ की रहने वाली प्रीती से दस साल पहले हुई।  शादी के कुछ दिन बाद सोमदत्त की आदतें बदलने लगीं, वो रोज प्रीती को पीटने लगा। कई सालों तक जब ये सिलसिला थमा नहीं तो प्रीती ने नाराज होकर ससुराल छोड़कर मायके चली आई। कुछ दिन दोनों अलग रहे और एक दिन सोमदत्त पत्नी को लेने गाजियाबाद से अलीगढ़ पहुंचा।
जिसके बाद पुरानी बातों को लेकर ससुराल वालों ने उसे खूब समझाने की कोशिश किया, लेकिन सोमदत्त पत्नी को लेकर जाने की जिद करने लगा। देखते ही देखते कुछ ही देर में सोमदत्त का गुस्सा इतना बढ़ गया की। उसने ससुराल वालों के साथ मारपीट शुरु कर दी। मामला बढ़ता देख ससुराल वालों ने पुलिस को बुला लिया। पुलिस ने भी समझाने की कोशिश की, लेकिन वो शांत नहीं हुआ। जिसके बाद पुलिस ने हाथ पैर बांध कर युवक को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खैर में भर्ती कराया। लेकिन सोमदत्त कहा मानने वाला था। उसने अस्पताल में खूब हंगामा भी किया। यहां भी इसके हाथ पैर बंधे रहे। युवक चिल्लाता रहा, लेकिन उसे रस्सी से आजाद नहीं किया गया।

लुढ़ककर पहुंच गया बीच सड़क, किसी ने नहीं खोले उसके हाथ-पैर
अस्पताल में भर्ती कराने के बाद युवक कुछ देर में पेट के बल लुढ़कता हुआ बीच सड़क पर भी आ गया, जिसको देखकर लोग कई बाद रुके लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की। कई घंटों के बाद एक महिला का दिल पसीजा तो उसने बोतल से पानी पिलाकर उसकी प्यास बुझाई।

पत्नी बोली- ये रोज मारते थे मुझको
पीड़ित महिला ने बताया, मुझे शुरू से ही मारते आए हैं। जब सास-ससुर से ये बात कही तो उन्होंने कहा ठीक हो जाएगा। शादी को 10 साल हो गए लेकिन अभी तक व्यवहार नहीं बदला। आज मेरी बेटियों को लेने आए थे, मैंने साथ जाने से मना कर दिया तो घरवालों के साथ मारपीट की। महिला के भाई का कहना है, जब बहन से मिलने उसके ससुराल गया तो पता चला कि उसे मारापीटा गया है। फिर मैं उसे वापस ले गया, यह सोचकर कि मामला शांत होते ही वापस भेज देंगे। वहीं, महिला के घरवालों ने बताया कि दामाद का दिमागी संतुलन ठीक नहीं है और इसी के चलते वो मारपीट करता था।