रात में फोन किया- ससुराल वाले पीट रहे हैं, ‌2 लाख-बाइक नहीं दी तो मार देंगे, सुबह तक हो गया ये हाल

पाली में रात करीब सवा 8 बजे बेटी का फोन आया...। वह खूब रोई...। रोते-रोते उसने बताया कि दहेज के लिए मारपीट होती है...। उन्हें 2 लाख रुपए नकद और मोटरसाइकिल चाहिए...। यह कहना है राजस्थान के पाली शहर के सूरजपोल इलाके में मंगलवार सुबह ससुराल में फंदे से लटकी मिली 22 वर्षीय प्रियंका के पिता का। 

दहेज हत्या का लगा है आरोप 
loading...
दरअसल, ​प्रियंका के पिता व अन्य परिजनों ने आरोप लगाया कि ससुराल पक्ष के लोगों ने दहेज के लिए उसकी हत्या कर घटना को आत्महत्या का रूप शव फांसी के फंदे पर लटका दिया। जोधपुर के भदवासिया इलाके में रविदास नगर निवासी गौतमचंद ने अपनी बड़ी बेटी प्रियंका की शादी 24 नवंबर 16 को पाली में सूरजपोल के रेगर मोहल्ला निवासी प्रकाश नवल पुत्र चिमनलाल के साथ किया।

बाद में उसका मोबाइल हो गया बंद
गौतमचंद का आरोप है कि सोमवार रात सवा आठ बजे उसके पास बेटी का फोन आया तो उसने दहेज में दो लाख रुपए नकद और मोटरसाइकिल की मांग पूरी नहीं करने पर पति व ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा हत्या कर दिए जाने की आशंका जताई थी। इसके बाद उसका मोबाइल हो गया था और मंगलवार सुबह उसकी मौत की सूचना मिल गई।

मैं मजदूरी करता हूं, 2 लाख व बाइक कहां से लाऊंगा?
प्रियंका के पिता ने बताया कि मैं जोधपुर में मकानों को पेंट करने की मजदूरी करता हूं। बड़ी बेटी प्रियंका की शादी में सामर्थ्य से ज्यादा खर्च किया और सामान भी दिया। मेरी दो बेटियां और हैं, जिनकी भी शादी करनी है। प्रियंका के ससुराल पक्ष के लोग 2 लाख रुपए व बाइक की डिमांड कर रहे थे, मैं उनकी डिमांड कैसे पूरी करता। बेटी ने रात को रोते हुए मारपीट करने तथा उसकी हत्या करने की बात कही थी। दहेज के लोभियों ने हत्या कर मेरी बेटी का शव फंदे पर लटका आत्महत्या का रूप दिया। उनको सजा दिलवा कर रहूंगा, ताकि और किसी बेटी की जान नहीं जाए।