ग्रामीणों ने जिस महिला को बच्चा चोर समझकर पकड़ा था, जब उसकी सच्चाई आई सामने तो उड़े होश

मध्यप्रदेश के देवास से एक ऐसा मामला सामने आया जिसको जानने के बाद सभी लोग दंग रह गए। दरअसल यहां पर एक महिला को बच्चा चोरी के शक में पकड़ा गया लेकिन इस महिला की जगह हकीकत सामने आई तो मौजूद लोगों के होश उड़ गए। जिसे लोग बच्चा चोर समझ रहे थे वह कोई बच्चा चोर नहीं बल्कि एक लुटेरी दुल्हन थी। पुलिस पूछताछ के दौरान वह अपना नाम सुमन तो कभी शीतल तो कभी कविता बताती। पुलिस ने महिला के झोले की तलाशी ली तो उन्हें चाकू बरामद हुआ।
loading...
दरअसल देवास जिले के बागली थाना इलाके के कमलापुर गांव में ये महिला संदिग्ध परिस्थितियों में घूम रही थी जिसे शक होने पर ग्रामीणों ने पकड़ लिया और यह अफवाह उड़ा दिया कि एक महिला बच्चा चोर को पकड़ा गया है। इसके बाद देखते देखते वहां भीड़ लग गई और पुलिस को सूचना दे दी गई। तभी कुछ समय बाद वहां एक व्यक्ति पहुंचा और उसने महिला को अपनी पत्नी बताया। साथ ही यह भी बताया कि उक्त महिला बीती रात उसके घर से गहने नगदी और उसका मोबाइल लेकर फरार हो गई थी।
एक व्यक्ति ने बताया कि गांव के दो व्यक्तियों और महिला के परिजनों ने झूठे रिश्तेदार बन कर आरोपी महिला की शादी मेरे साथ करा दी। उससे मेरा विवाह हरदा के पास एक मंदिर में करवाया गया था इसके बदले मैंने ₹80000 दिए थे क्योंकि उनकी स्थिति सही नहीं थी। विवाह के बाद महिला मेरे साथ करीब 8 दिनों तक रही और उसने ऐसा व्यवहार किया मानो जैसे वह किसी शिक्षित घर की बेटी हो। उसकी सेवा से खुश होकर मेरी मां ने अपने चांदी के गहने उसे मुंह दिखाई स्वरूप दे दिए।
उसी रात महिला कपड़े मोबाइल और घर के अन्य सामान लेकर फरार हो गई। इतना ही नहीं हद तो तब हो गई जब महिला ने उक्त व्यक्ति को पहचानने से इंकार कर दिया। इसके बाद व्यक्ति ने स्थानीय दलाल और रिश्तेदार को बुलवाया उन्होंने उनकी शादी करवाई थी। 
पहले तो उन्होंने आने से इनकार किया परंतु जब पुलिस का हस्तक्षेप हुआ तो सभी लोग मौके पर पहुंचे। यहां भी एक अजीब खुलासा हुआ। दरअसल महिला शादी से पहले जिसे अपना जीजा बता रही थी वास्तव में वह उसका पति है जबकि महिला के पास उसका बच्चा भी है। हालांकि पुलिस ने आरोपी महिला उसके पति एवं दो दलालों को गिरफ्तार कर लिया है।