चॉकलेट का लालच देकर मासूम को उठाया, पकड़े जाने पर बच्चे के पिता से ही कहने लगा मैं इसका बाप हूँ

आसपास के शहरों के बाद अब उज्जैन शहर में बच्चा चोरी का मामला सामने आया है। यहां शास्त्री नगर की गली नंबर 2 में गुरुवार सुबह 10 बजे लोगों ने एक बच्चा चोर को पकड़ लिया। उस व्यक्ति ने कॉलोनी में खेल रहे दो वर्ष के बच्चे को चॉकलेट का लालच देकर गोदी में उठा लिया और साथ लेकर जाने लगा। तभी बच्चे के घर में ही रहने वाले किरायेदार ने उसे देख लिया और उसके पिता को बुलाकर उसे पकड़ लिया। 
loading...
पिता ने पूछताछ की तो वह कहने लगा कि मैं इसका पापा हूं। इस पर लोगों ने वहीं उसकी जमकर धुनाई की और नीलगंगा पुलिस को बुलाकर हवाले कर दिया। पुलिस ने पूछताछ की तो अलग-अलग कहानी बनाने लगा। शाम को पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी के पास से कनार्टक के बच्चे का आधार कार्ड भी मिला है। इससे पुलिस का संदेह बढ़ गया है।
नीलगंगा पुलिस के मुताबिक शास्त्री नगर निवासी दो वर्षीय हार्दिक पिता पुनीत जायसवाल घर के बाहर खेल रहा था। इस दौरान पुरुषोत्तम पिता जयराम निवासी महासुमंद, छत्तीसगढ़ वहां आया और बच्चे से बात करने लगा। बात करते-करते वह हार्दिक को गोद में उठाकर ले जाने लगा। उसी मकान में रहने वाला किरायेदार पवन प्रजापत कुछ दूरी पर लोगों के साथ खड़ा था। 

उसकी नजर बच्चे और अनजान युवक पर पड़ी तो उसे शंका हुई। इस पर उसने बच्चे के बाप को बुला लिया। आसपास इसके हुए लोगों ने उसे पकड़ लिया। जब पुनीत, पवन और अन्य लोगों ने उससे पूछा कि बच्चे को कहां लेकर जा रहा है तो वह बोला कि मैं इसका पापा हूं। यह सुनते ही भीड़ उस पर टूट पड़ी। लोगों ने उसकी जबरदस्त पिटाई कर दी। युवक के साथ अनहोनी न हो जाए। इसी के चलते मौजूद लोगों ने उसे पुलिस को सौंपना ही ठीक समझा।

पुलिस ने बच्चा गिरोह के बारे में किया था मना
शहर में पिछले दो दिनों से सोशल मीडिया पर बच्चा चोरी करने वाले गिरोह की खबर वायरल हो रही है। प्रशासन ने उक्त अफवाह के चलते धारा 144 के मुताबिक आदेश जारी किए। पुलिस ने भी शहर में इस प्रकार के किसी गिरोह के सक्रिय होने की सूचना से मना किया। साथ ही शहरवासी सतर्क रहने व भयभीत न होने की अपील की। जबकि गुरुवार को घटना सामने आने के बाद पुलिस सतर्क हो गई है।

पूछताछ में बन जाता बीमार
नीलगंगा थाना प्रभारी संजय मंडलोई का कहना है कि लोगों ने एक शख्स को बच्चा चोरी के आरोप में पकड़ा है। उससे पूछताछ की जा रही है। वह अपना नाम पुरुषोत्तम पिता जयराम निवासी महासुमंद, छत्तीसगढ़ बता रहा है। उसके विरुद्ध बच्चे को बहला फुसलाकर ले जाने का प्रकरण दर्ज किया गया है। सख्ती से पूछताछ करने पर आरोपी बीमार होने लग जाता है। कुछ भी बोलता नहीं है।