तलाक दिए बिना ही रचा रही थीं दूसरी शादी, मौके पर ही पहुंच गया पति और फिर हुआ ये..!

तरनतारन : शहर के एकगुरुद्वारा साहिब में एक शादीशुदा युवती के द्वारा पहले पति को तलाक दिए बिना ही दूसरी शादी रचाई जा रही थी। इसका पता चलते ही युवती का पति गांव की पंचायत समेत मौके पर पहुंच गया और शादी रुकवा दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची तो दूल्हा बरातियों समेत फरार होने में कामयाब हो गया। थाना सिटी की महिला सब-इंस्पैक्टर बलजीत कौर ने बताया कि युवती को कब्जे में लेकर कानूनी कार्रवाई की जा रही है। 

3 साल पहले हुई थी पहली शादी अब दूसरी करने जा रही थी
loading...
गांव जौहल सिंह वाला निवासी मंगल सिंह की शादी मनप्रीत कौर के साथ 3 वर्ष पहले ही हुई थी। उन दोनों का डेढ़ वर्ष का एक बच्चा भी है। पति-पत्नी के बीच काफी दिनों से विवाद चला आ रहा था। शनिवार को तरनतारन के सरहाली रोड स्थित गुरुद्वारा साहिब में मनप्रीत कौर गांव खारा निवासी एक व्यक्ति के साथ पहले पति मंगल सिंह को तलाक दिए बिना ही दूसरी शादी रचा रही थी। इसका पता चलते ही मंगल सिंह गांव की पंचायत समेत मौके पर ही वहाँ पर पहुंचा और शादी रुकवा दी। दूल्हे और उसके परिवार के मौके से फरार होने के बाद युवती के परिजनों ने  उसके पति के परिजनों के बीच जमकर बहसबाजी हुई। 

पहला पति था नशे का आदि
युवती मनप्रीत कौर ने पुलिस के समक्ष बताया है कि उसका पहला पति नशे का बहुत ही ज्यादा आदी था और नशे के कारण उसने घर का कीमती सामान भी बेच दिया था। वे पति के साथ ही नहीं रहना चाहती। उसने अपना डेढ़ वर्ष का बच्चा भी पति के पास ही छोड़ रखा है। वहीं दूसरी तरफ उसके पति मंगल सिंह ने आरोप लगाया कि युवती की मां उनका घर बसने नहीं दे रही और वे पहले से ही अपने किसी अन्य नजदीकी के यहां अपनी लड़की की दूसरी शादी करवा रही है। उसने मांग की कि दूसरी शादी रचाने वाले व्यक्ति और उसके परिवार खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो।

पुलिस ने दुल्हन और दूसरे दूल्हे को लिया हिरासत में
मौके पर ही पहुंची थाना सिटी की महिला सब-इंस्पैक्टर बलजीत कौर कहती हैं कि गांव जौहल राजू सिंह निवासी मंगल सिंह ने शिकायत दी कि उसकी पत्नी मनप्रीत कौर बिना तलाक लिए एक धार्मिक स्थल पर किसी अन्य व्यक्ति के साथ शादी कर रही है। पुलिस मौके पर जब पहुंची तो दूल्हा व उसका परिवार फरार हो गया। दूसरी शादी रचाने वाले मनप्रीत कौर को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी है। जांच में जो भी आरोप साबित होंगे, उसी के आधार पर आगे की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।