पॉलीथिन में बंद होकर नदी पार करते हुए बाढ़ पीड़ित बच्चें, जानिए क्या है सच्चाई

इस वक्त भारत के कई सारे राज्य बाढ़ से प्रभावित हैं। जिसमें बिहार की हालत किसी सी भी छुपी नहीं हैं ऐसे में सोशल मीडिया पर एक ऐसी तस्वीर सामने आ रही है जिसमें एक बच्चें को पॉलीथिन के अंदर ही बंद करके नदी को पार किया जा रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस तस्वीर को की यूजर्स बिहार की बता रहे हैं तो कोई इसे असम की बता रहा है। चलिए तो आज हम आपको इस तस्वीर के सच से पर्दा उठाने जा रहे है।
loading...
सोशल मीडिया पर तहलका मचाती यह तस्वीर बिहार या फिर असम की बिल्कुल भी नहीं है। यहां तक कि ये तस्वीर भारत की भी नहीं है। आपको बता दें कि इस तरीके का उपयोग वियतनाम के हुओई हा गांव के लोग अपने बच्चे को स्कूल भेजने के लिए करते हैं। उन लोगों का कहना है कि जब यहां की नदी में उफान आता है तो हम अपने बच्चें को इस तरह से स्कूल भेजते है।
गांव के मुखिया वो गोइंग का कहना कहना है कि यह बेहद खतरनाक है, लेकिन हमारे पास इसके अलावा कोई विकल्प भी नहीं है। हमने इस नदीं के ऊपर जो पुल बनाते है वो भी टूट जाता है। ऐसे में इस नदी को पार करने के लिए हमारे पास कोई भी और जरिया नहीं बचता है।

मात्र स्कूल भेजने के लिए ही अपनाते हैं ये तरीका
वहां के लोगों का कहना है कि हमारे बच्चों की यूनिफॉर्म गंदी और गीली न हो इसलिए यह जोखिम भरा तरीका अपनाया है।लेकिन कहीं कहीं लोगों को एक ये भी डर बना रहता है कि जब नदी अपने उफान पर होती है तो उस वक्त उसमें बहाव के साथ ही कीचड़ भी भरा रहता है। जिसके कारण बच्चों के बहने या पॉलीथिन बैग में बेहोश होने का डर रहता है।