मृतका की बहन के भी रंगे थे खून से हाथ, नाखूनों से खरोंचा था चेहरा

आगरा के थाना खेरागढ़ क्षेत्र में हुई प्रेमी युगल श्यामवीर और पूजा की हत्या के मामले में मृतका की बहन को भी गिरफ्तार किया गया है। उसे नामजद नहीं कराया गया था। पुलिस की तलाश में आया कि पूजा की हत्या में वो भी शामिल थी। उसके भाइयों ने पूजा का गला दबाया, हालांकि बहन ने पूजा के चेहरे पर नाखून गाढ़ दिए थे। गिरफ्तार पांचों आरोपियों को शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया गया। वहां से जेल भेज दिया गया।
आरोपियों पूजा के पिता मोहनलाल, भाई कमल, चाचा राम निवास, मां मुनीशा, बहन रुमिका हैं। नामजद आरोपियों में हरेंद्र लापता है। पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बारे में कहा कि पूजा की हत्या गला दबाकर की गई थी हालांकि श्यामवीर का मुंह दबाया गया था। 
पूजा से मिलने के लिए श्यामवीर घर पहुंचा था। इससे पहले पूजा ने फोन किया था। पूजा जैसे ही टार्च लेकर उसके साथ चली, वैसे ही परिवारीजनों ने पकड़ लिया। दोनों को खेत पर ले जाकर मार दिया। गुरुवार सुबह ग्रामीणों ने दोनों के लाश पड़े देखे तो घटना की जानकारी हुई। 
प्रेमी युगल की हत्या के बाद गोरऊ और कछपुरा गांव में दूसरे दिन भी सन्नाटा रहा। पूजा के परिवारीजनों के जेल जाने कर बाद घर पर ताला लटका हुआ है। वहीं गोरऊ में मृतक श्यामवीर के घर पर घटना के बाद से मातम पसरा है। 
लाश घर पहुंचने पर श्यामवीर के घर चीत्कार मच गई। गमगीन माहौल में परिवारीजनों ने उसका अंतिम संस्कार किया। पूजा के परिवारीजन को पुलिस ने हिरासत में ले रखा था।लाश  आने पर पुलिस परिजनों को लेकर गई। जहां परिवार ने उसका अंतिम संस्कार किया।