इंग्लैंड से हारने के बाद बोले विराट कोहली, इसे बताया हार का असली जिम्मेदार, आप भी यही कहेंगे

दोस्तो, इंग्लैंड और भारतीय टीम के बीच खेले गए वर्ल्डकप 2019 के 38वे मैच में मेजबान इंग्लैंड ने भारतीय टीम को 31 रनों से हरा दिया है। दरसअल आपको बता दें कि मेजबान इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 7 विकेट खोकर 337 रन बनाए और भारतीय टीम को 338 रनों का बड़ा लक्ष्य दिया। इंग्लैंड की तरफ से जॉनी बेयरस्टो ने सवाधिक 111 रनों की शतकीय और बेन स्टोक्स ने 79 रनों की अर्धशतकीय पारी खेली।
हालांकि इन दोनों के अतिरिक्त जेसन रॉय ने 66 और जो रुट ने भी 44 रनों की पारी खेली। वहीं 338 रनों के बड़े लक्ष्य के जबाब में बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम रोहित शर्मा के 102 रनों की शतकीय पारी की बाबजूद 50 ओवर में 5 विकेट खोकर केवल 306 रन ही बना पाई। जिससे मेजबान इंग्लैंड ने इस मैच को 31 रनों से अपने नाम कर लिया।
वहीं मेजबान इंग्लैंड से हारने के बाद भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने प्रेजेंटेशन सेरेमनी में बड़ा बयान दिया है। दरसअल इंग्लैंड से हारने के बाद विराट कोहली ने बताया  कि, अगर बल्लेबाज एक छक्का लगाने में सक्षम हैं तो आप स्पिनर के रूप में अधिक कुछ नहीं कर सकते। उन्हें अपनी लाइनों के साथ ज्यादा चालाक बनना था क्योंकि एक छोटी सीमा के साथ रन बनाना मुश्किल था। मुझे लगा कि वे एक चरण में 360 की तरफ जा रहे हैं, इसलिए हमने चीजों को वापस खींचने के लिए अच्छा किया।
हम उन्हें 330 तक सीमित करके खुश थे। विराट कोहली ने आगे हार का वहज बताते हुए कहा कि, अगर हम बल्ले से क्लीनिकल होते, तो नतीजे अलग हो सकते थे, मुझे लगता है। हमारे पास एक अच्छा अवसर था जब पंत और पांड्या वहां थे। हम विकेट गंवाते रहे और इससे बड़ा पीछा करने में सहायता नहीं मिली, किन्तु अंत में इसका श्रेय इंग्लैंड को जाता है। यह उन दो लोगों के साथ चर्चा करने के लिए है जो वहां थे। उन्होंने अच्छे क्षेत्रों में गेंदबाजी की और गेंद रुक रही थी, इसलिए अंत तक बल्लेबाजी करना कठिन था।