48 हजार के लालच में गर्भवती महिलाओं ने रचाई विवाह, एक दुल्हन तो साथ में 6 माह की बेटी भी लाई

सरकारी राशि के लालच में लोग किसी भी हद तक चले जाते हैं। इस बात का ताजा उदाहरण है मध्य प्रदेश के दतिया में नगर पालिका की ओर से मंगलवार को आयोजित मुख्यमंत्री कन्यादान और निकाह योजना के तहत सामूहिक विवाह सम्मेलन। 
दैनिक भास्कर की रिपोर्ट की मानें तो दतिया के इस सामूहिक विवाह सम्मेलन में सरकारी राशि हड़पने के ​लालच में न शादीशुदा महिलाओं की दुबारा विवाह करवाई दी गई ​बल्कि एक दुल्हन तो अपने साथ छह माह की बेटी भी लेकर आई थी। इसके अलावा कई दुल्हनों के गर्भवती होने की बात भी सामने आई है।

226 जोड़ों की हुई शादी
मुख्यमंत्री कन्यादान और निकाह योजना के तहत हुए सामूहिक विवाह सम्मेलन में 226 जोड़ी की शादी करवाई गई। कई दुल्हन ऐसी थीं, जो पहले से शादीशुदा थी। उनके पहले से ही मांग भरी हुई थी। फिर भी सम्मेलन में उनके वरमाला डलवाई गई। एक फिर से विवाह के बंधन में बंधवाया गया।

बचते नजर आए जिम्मेदार

सामूहिक विवाह में फर्जीवाड़े के ये सबूत नजर आने पर जब जिम्मेदार अफसरों, वार्ड पार्षदों से बात की गई तो हर किसी कुछ बोलने से बचता नजर आया। बता दें कि योजना के तहत विवाह करवाने वाली महिलाओं को 48 हजार की सरकारी राशि का लालच दिया गया था।