कम्पनी ने भेजा था मोबाइल डिलीवरी करने लेकिन इन्होंने बीच रास्ते में ही बेच दिया 25 लाख का मोबाइल, जानिये पूरा मामला

चंदौली जिले में राजकीय रेलवे पुलिस ने रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म एक के पश्चिमी छोर पर बुक स्टॉल के समीप से एक लड़का को गिरफ्तार किया हैं।उसके पास से चोरी के 212 मोबाइल फोन और 209 बैटरियां बरामद हुए हैं। लड़का कुरियर कंपनी का कर्मचारी था और 352 मोबाइल लेकर चला था। रास्ते में उसने 140 मोबाइल औने-पौने दाम पर बेच दिए।
loading...
लड़के के खिलाफ 15 जुलाई को बिहार के औरंगाबाद जिले के दाउदनगर थाने में अमानत में खयानत का मुकदमा दर्ज हैं। बुधवार सुबह जीआरपी टीम संदिग्धों की जांच पड़ताल करते हुए प्लेटफॉर्म- एक के बुक स्टॉल के समीप पहुंची तो गली में एक लड़का संदिग्ध हाल में बैठा मिला। वह जीआरपी को देख कर घबरा गया। संदेह होने पर जीआरपी ने उसे पकड कर बैग की तलाशी ली तो उसमें बड़ी संख्या में मोबाइल फोन और बैटरियां मिली।
थाने लाकर गिनती करने पर 212 मोबाइल और 209 बैटरियां मिलीं।पूछताछ करने पर उसने नाम शक्तिनाथ दुबे निवासी मैनपुरा थाना कलेर जिला अरवल बिहार बताया। उसने बताया कि वह एक कूरियर कंपनी में काम करता था और कंपनी तक पहुंचाने के लिए मिले मोबाइल को बेचने के लिए मुंबई जा रहा था।जीआरपी पीडीडीयू प्रभारी आरके सिंह ने बताया कि बेचे गए मोबाइल फोन और बैटरी की कीमत 25 लाख रुपये हैं।