कांग्रेस के निशाने पर केंद्र और मोदी तो प्रज्ञा ने गांधी परिवार पर किया प्रहार…!

‘इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ कि सुप्रीम कोर्ट के चार जजों को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कोर्ट की प्रक्रिया में दखल की शिकायत की हो। जिस प्रकार से संवैधानिक संस्थाओं के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है, यह हमारे लिए चिंता का विषय है।’ ये बात कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह ने मंगलवार को जिला अदालत में अधिवक्ताओं से मुलाकात में कही। इस दौरान वकीलों ने राजधानी में हाईकोर्ट बैंच की मांग उठाई, पर उन्होंने इस पर कोई आश्वासन नहीं दिया। इधर, पीसीसी में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर प्रहार किया। उन्होंने कहा कि गलत प्रधानमंत्री देश के लिए हानिकारक होता है, मोदी में दम है तो दो करोड़ रोजगार के वादे पर चुनाव लडकऱ दिखाएं। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर झूठे आरोप लगाकर मोदी ओछी राजनीति कर रहे हैं। हार्दिक ने यह भी कहा कि उन्हें प्रदेश के कई किसानों ने कर्ज माफी के मैसेज दिखाएं हैं।

राफेल मामले में देश की जनता मोदी को माफ नहीं करेगी: छगन भुजबल

Loading...

महाराष्ट्र के पूर्व उप मुख्यमंत्री व एनसीपी नेता छगन भुजबल ने मंगलवार को पत्रकार वार्ता में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि इमरजेंसी के बाद देश की जनता ने इंदिरा गांधी को माफ नहीं किया था, उसी प्रकार राफेल घोटाले में मोदी को भी जनता माफ नहीं करेगी। उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी प्रज्ञा के बारे में भी कहा कि दिग्विजय के विरुद्ध यह प्रत्याशी अच्छी नहीं है। उन पर मर्डर का आरोप है। इसके चलते भाजपा की शिवराज सरकार ने ही उन्हें गिरफ्तार किया था। मोदी ने जिसे भोपाल से प्रत्याशी बनाया है वह जमानत पर है। हेमंत करकरे ने जांच के बाद प्रज्ञा को गिरफ्तार किया था।

भुजबल ने कहा कि 2014 जैसी मोदी की लहर इस बार नहीं है। मोदी केवल पुलवामा की बात कर रहे हैं, जबकि पुलवामा बड़ा इंटेलिजेंस फेलियर था। यह जिम्मेदारी प्रधानमंत्री मोदी को लेनी चाहिए थी। उन्होंने बताया कि मोदी की गलती से जो जवान शहीद हुए अब उनके नाम पर ही मोदी वोट मांग रहे हैं। भुजबल ने कहा कि मोदी अब राजीव गांधी पर प्रश्न उठा रहे हैं, जिन पर आरोप सिद्ध नहीं हो सके। उन्होने कहा कि किसी भी स्थिति में मोदी की सरकार नहीं बनेगी।प्रधानमंत्री पद के लिए कौन अच्छा उम्मीदवार इस प्रश्न पर छगन ने कहा कि 130 करोड़ की आबादी वाले देश में ऐसा नहीं है कि सिर्फ नरेंद्र मोदी ही लायक है। देश में कई अन्य लोग भी योग्य है इसके पहले भी गठबंधन की सरकारे हुई है और कई योग्य प्रधानमंत्री ने देश चलाया है। इसलिए यह कहना सही नहीं है कि मोदी ही देश चलाएगा।

प्रज्ञा बोलीं- कन्हैया चुनाव लड़ सकते हैं तो मैं क्यों नहीं

जब सोनिया गांधी, राहुल गांधी, रॉबर्ट वाड्रा और देश के टुकड़े-टुकड़े करने वाली गैंग के कन्हैया कुमार पर केस चल रहा है और वह चुनाव लड़ सकते हैं तो मैं क्यों नहीं चुनाव लड़ सकती।’ यह बात भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर ने पांच नंबर स्टॉप स्थित परशुराम मंदिर परिसर में कही। उन्होंने कहा कि मुझे तो इन सब ने मिलकर फंसाया है, मैं निर्दोष हूं। ये चुनाव राष्ट्रवाद के मुद्दे पर लड़ रही हूं, ताकि राष्ट्रविरोधी ताकतों को सत्ता से दूर किया जा सके।

नवयुगलों को दिलाया राष्ट्र सेवा का संकल्प

दोपहर बाद प्रज्ञा चित्रांश परिवार के सामूहिक विवाह सम्मेलन में पहुंची। यहां उन्होंने नवयुगलों को राष्ट्रवाद राष्ट्र सेवा का धर्म निभाने का संकल्प दिलाया। शाम 5 बजे वह खटीक समाज के सामूहिक सम्मेलन में शामिल होने सुल्तानिया अस्पताल के सामने आयोजन स्थल पर आईं और नवयुगलों को संकल्प दिलाया। डॉक्टरों ने पूछा-धारा 370 और समान नागरिक संहिता पर मोदी ने क्या किया। शहर के प्रतिष्ठित चिकित्सकों से संवाद में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. विनय सहस्रबुद्धे से केंद्र सरकार के कामकाज पर सवाल किए गए। चिकित्सकों ने पूछा कि पांच साल में धारा 370, राम मंदिर और समान नागरिक संहिता के मुद्दे पर क्या काम किया गया।

विनय सहस्त्रबुद्धे ने जवाब दिया कि मोदी सरकार ने अपने ही देश में पहली बार इन मुद्दों पर संविधान संशोधन का प्रस्ताव लाया, जिसके बाद आरक्षण की व्यवस्था में परिवर्तन किया जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी के मेनिफेस्टो में राम मंदिर प्राथमिक विषयों में शामिल है। समान नागरिक संहिता, धारा 370 के लिए भी सरकार काम कर रही है। डॉ. साहबउद्दीन ने कहा पिछली सरकार में यस मिनिस्टर फॉर्मूले पर काम होता था। मंत्री तो दूर संतरी से मिलने के लिए भी रिश्वत देना पड़ती थी। मोदी सरकार के मंत्री मिलने वालों से मिलते हैं और मोबाइल पर आने वाले मैसेज का जवाब मैसेज से भी देते हैं। हमारी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने विदेशों में फंसे लोगों को सकुशल भारत वापस लाया विदेश नीति में परिवर्तन किया ऑर्गेनाजेशन ऑफ इस्लामिक कंट्री के सम्मेलन में आज भारत का नाम प्रमुखता से वक्ताओं के रूप में लिया जाता है।

किसने क्या प्रश्न पूछा

डॉ. मनोज वर्मा ने कहा हर बार सरकार चुन कर आती है और नए-नए पुरस्कारों की घोषणा करती है देश में एक पुरस्कार नेशनल स्तर के डॉक्टरों को भी दिया जाना चाहिए। डॉ विनय सहस्रबुद्धे ने उत्तर दिया प्रस्ताव सराहनीय है आप इस पर चिकित्सकों से विस्तृत चर्चा कर एक प्रस्ताव बनाकर हमें दे इसे संसद में रखा जाएगा।डॉक्टर दीपक शाह ने कहा आयुष्मान योजना में कई तरह के संशोधन करने की आवश्यकता है ताकि कम औपचारिकता में अधिक से अधिक जरूरतमंदों को इसका लाभ मिल सके। डॉ विनय सहस्रबुद्धे ने कहा कि आयुष्मान योजना चिकित्सकों के दल ने ही तैयार की है फिर भी यदि देश में इसमें संशोधन की आवश्यकता महसूस की जा रही है तो प्रस्ताव बनाकर दिया जाना आवश्यक है डॉ मोनिका सिंह ने कहा चिकित्सकीय पढ़ाई करने के लिए विद्यार्थियों को कठिन परिश्रम करना पड़ता है ऐसे में आरक्षण व्यवस्था को इससे मुक्त किया जाना चाहिए डॉ विनय शास्त्री ने कहा कि मोदी सरकार आरक्षण व्यवस्था में परिवर्तन ला रही है पूरी तरह से मुक्त करने के लिए मोदी सरकार संकल्पित नहीं है।

डॉ अरविंद दुबे ने पूछा कश्मीरी पंडितों के लिए मोदी सरकार क्या कर रही है ?

डॉक्टर साहब उद्दीन ने कहा मोदी सरकार कश्मीरी पंडितों के पक्ष में काम कर रही है जो कश्मीरी पंडित कश्मीर छोड़ कर गए थे उन्होंने अब वापस लौटना शुरू कर दिया है। डॉ विनय सहस्रबुद्धे ने कहा एयर स्ट्राइक का राजनीतिकरण हमने कभी नहीं किया यह एक सामान्य प्रक्रिया थी सेना के ही वरिष्ठ अधिकारियों की मानें तो इस तरह के हमलों के लिए सेना सदैव तैयार रहती है। इसे किसी भी आतंकी हमले के बाद का किया जाने वाला काउंटर अटैक कहते हैं हम आर्मी का राजनीतिकरण नहीं कर रहे हैं किन्तु सेना के लिए मोदी सरकार ने कई ऐसे निर्णय लिए जो पिछली सरकारों ने नहीं लिए थे।

Loading...